Thursday, September 23, 2021
HomeTech in hindiIP Camera क्या होता है | IP Camera full form in Hindi...

IP Camera क्या होता है | IP Camera full form in Hindi | 7 Benefit of IP Camera in Hindi

यदि आप अपने घर, ऑफिस, कर्मचारियों, संपत्तियों आदि की सुरक्षा और निगरानी करना चाहते हैं तो आपको CCTV (IP Camera) निश्चित रूप से लगवाने चाहिए। अधिकांश व्यवसाय और संगठन पहले से ही सीसीटीवी निगरानी प्रणाली का उपयोग काम के घंटों और रोजमर्रा की गतिविधि पर नजर रखने के लिए करते हैं. आजकल तो CCTV कैमरा का प्रयोग ट्रैफिक पुलिस भी रेड लाइट जंपिंग और ओवर स्पीडिंग के चालान करने के लिए भी कर रही है.

वेसे तो कैमरे बहुत प्रकार के होते है जेसे मोबाइल फ़ोन का कैमरा, DSLR कैमरा, डिजिटल कैमरा, CCTV कैमरा. पर अगर हम cctv कैमरा के बात करे तो एनालॉग और IP कैमरा आते है.

आज इस आर्टिकल में हम आपको IP Camera क्या होता है और केसे काम करता है, ip कैमरा का लाभ क्या है और अनोलोग कैमरा से केसे अलग होता है इन सभी प्रश्न के बारे में बतायेगे.

IP कैमरा की फुल फॉर्म क्या होती है | IP Camera full form in Hindi

“IP” का अर्थ इंटरनेट प्रोटोकॉल होता है, जो एक नेटवर्क पर डेटा के ट्रान्सफर के लिए एक प्रोटोकॉल है। एक IP Camera या नेटवर्क कैमरा एक कैमरा होता है जो सीधे आपके नेटवर्क राउटर में प्लग करा जा सकता है, IP ​​​​कैमरा से डेटा नेटवर्क के माध्यम से दूरस्थ स्थान से सुरक्षित रूप से देखा जा सकता है।

IP ​​Camera क्या होता है | What is IP Camera in Hindi

जब CCTV निगरानी की बात आती है तो IP Camera (इंटरनेट प्रोटोकॉल कैमरा) वर्तमान में काफी प्रयोग किया जाता है। सबसे सरल शब्दों में कहा जाए तो एक IP Camera एक डिजिटल वीडियो कैमरा सिस्टम है जो नेटवर्क के माध्यम से सिग्नल भेज और प्राप्त कर सकता है।

IP CAMERA
IP Camera

IP ​​कैमरे नेटवर्क केबल पर काम करते है, IP कैमरा वीडियो इमेज कैप्चर करके, नेटवर्क पर डिजिटल फॉर्मेट में कंप्रेस और ट्रान्सफर करते हैं। इन वीडियो स्ट्रीम को प्राप्त करके NVR (नेटवर्क वीडियो रिकॉर्डर) विडियो को रिकॉर्ड कर लेता है। IP Camera इन्टरनेट प्रोटोकॉल पर काम करते है इसिलए उन्हें कंप्यूटर की तरह ip डाली जाती है.

IP Camera को अलग से पॉवर देनी की भी जरूरत नही होती, इन कैमेरो में cat 6 वायर से कनेक्ट करा जाता. कैमरे POE स्विच से जोड़े जाते हे जो विडियो और पॉवर दोनों की सप्लाई देने का काम करते है.

IP Camera को सीधे इन्टरनेट राऊटर से जोड़ के भी प्रयोग करा जा सकता है, छोटे ऑफिस या घर की निगरानी के लिए इन कैमरा का यूज़ इन्टरनेट राऊटर से कनेक्ट करके ज्यादा करते है.

एक एनालॉग कैमरा केवल अपना फ़ीड सीधे एक डीवीआर (डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर) को भेजता है। एक हाई डेफिनिशन IP Camera सिस्टम का उपयोग करने के कई फायदे हैं जो एनालॉग कैमरे सिर्फ पेश नहीं करते हैं।

पर एनालॉग कैमरों में ऐसा नही होता है एनालॉग कैमरे को सीधे रिकॉर्डर से जोड़ना होता है और रिकॉर्डर तस्वीर की जानकारी और स्टोरेज के लिए जिम्मेदार होता है।

नीचे दिए गए डायग्राम से आप आसानी से समझ सकते हे की IP Camera का सेटअप केसे होता है और क्या क्या डिवाइस की जरूरत होती है

IP कैमरा सेटअप डायग्राम

IP Camera क्यों चुनें? | Why choose IP Camera?

एक IP कैमरा आपको अपने स्थानीय कंप्यूटर पर और NVR (नेटवर्क विडियो रिकॉर्डर) के बिना दूरस्थ साइटों से विडियो को देखने देता है। इन कैमरों को लगाना और कॉन्फ़िगर करना आसान है और इन्हें कहीं भी रखा जा सकता है, कुछ IP कैमरा को वायरलेस नेटवर्क से भी कनेक्ट करा जा सकता है.

IP कैमरा के लाभ क्या है | Benefit of IP Camera in Hindi

Accessibility :- यदि आप इंटरनेट से जुड़े हैं, तो आप अपने निगरानी कैमरों को कभी भी, कहीं भी एक्सेस कर सकते हैं। IP Camera निगरानी उपयोगकर्ताओं को वेब से जुड़े किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस से अपने कैमरों से विडियो देखने की अनुमति देती है।

Solution: धुंधले वीडियो बीते दिनों की बात हो गई है। हाई डेफिनिशन आईपी कैमरे अविश्वसनीय ज़ूम-इन क्षमताओं की अनुमति देते हैं, जिसमें कैमरे अब 30 मेगापिक्सेल रिज़ॉल्यूशन में आने लगे हैं। आईपी ​​​​कैमरे एचडी 1080p और यहां तक ​​​​कि 4K रिज़ॉल्यूशन भी प्रदान करते हैं। जब तुलना की जाती है, तो कोई भी एनालॉग रिज़ॉल्यूशन इसका मुकाबला नही कर पाता है।

Storage: कोई और डिस्क या टेप नहीं। आईपी ​​वीडियो निगरानी के साथ, सभी फुटेज डिजिटल रूप से संग्रहीत किए जाते हैं। यदि आपकी हार्ड ड्राइव इसकी अनुमति देती है या आप इसे क्लाउड में स्टोर कर सकते हैं, तो आप जितना चाहें उतना फुटेज सहेज और स्टोर कर सकते हैं, जो एक अधिक से अधिक लोकप्रिय विकल्प बन रहा है।

Video Sharing: आप न केवल अपने फुटेज को किसी भी डिवाइस से देख सकते हैं, बल्कि आप उस वीडियो को दुनिया में कहीं भी किसी को भी भेज सकते हैं। यह महत्वपूर्ण स्थितियों में जांच के समय में कटौती करता है।

कम रखरखाव: डिजिटल युग अत्यधिक उपकरणों को दूर करता रहता है। एक आईपी वीडियो निगरानी प्रणाली समय-व्यतीत वीडियो उपकरण, टेप, कैटलॉगिंग इत्यादि की आवश्यकता के बिना मालिक को लागत में कटौती करती है।

लचीलापन: प्रत्येक एनालॉग कैमरे को सीधे डीवीआर से जोड़ना पड़ता है। पर आईपी कैमरे (जो एक ही सामान्य क्षेत्र में हैं) को एक ही स्विच से जोड़ा जा सकता है जो एक केबल द्वारा एनवीआर (नेटवर्क वीडियो रिकॉर्डर) से जुड़ा होता है। आप अपने कैमरों की मात्रा और निगरानी किए जा रहे क्षेत्र को और बढ़ाने के लिए स्विच टू स्विच को भी कनेक्ट कर सकते हैं। यह सिस्टम को स्थापित करते समय केबल बिछाने की मात्रा को कम करता है और अधिक कैमरों को मूल रूप से कनेक्ट करने की अनुमति भी देता है।

PoE स्विच: एक IP वीडियो निगरानी प्रणाली जो PoE (पावर ओवर इथरनेट) स्विच का उपयोग करती है, आपकी श्रेणी 5e या 6 केबल को न केवल आपके कैमरों से सिग्नल चलाने में सक्षम बनाती है, बल्कि कैमरों को भी पावर देती है। यह अतिरिक्त बिजली आपूर्ति की आवश्यकता को समाप्त करता है। साथ ही, नए आईपी कैमरे पहले से मौजूद नेटवर्क पर रह सकते हैं।

Top IP Camera Brand in India

Also Read-

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

  1. आपके द्वारा दी गई जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है। जानकारी साझा करने की लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद । Sarathi parivahan sewa की सभी जानकारी यहां देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular